आरएसएस फ़ीड

मन कभी बूढ़ा नहीं होता

मन कभी बूढ़ा नहीं होता तन बूढ़ा होता है , मन तो हमेशा यही कहता है-

चुराके तितलियों से रंग,फूलों से गंध
नाचूं बगिया में भंवरों के संग|
चुराके बादलों से नमी, हवा से मस्ती,
नाचूं सागर पे लहरों के संग|
चुराके चाँद से चांदनी ,रात से अँधेरा,
नाचूं नभ में तारों के संग|
चुराके कोयल से मिठास,
रचके खुशियों के गीत,
छेड़ूं मीठी मीठी तान सबके संग|

शब्दों का सियापा 

मिर्च मसाला भर भर के खबर बनादी  तीखी 

भरदी इतनी आग के अखबार जल गए 

जल गए अख़बार लोगों ने खोया अपना आपा 

दीन धरम भूल के दंगों में भिड़ गए 

भिड़ गए दंगों में घर बार जलाये जनता की संपत्ति सब स्वाहा कर गए 

कर गए स्वाहा सम्पत्ति पैरों मारी कुल्हाड़ी 

धरम गुरु और नेता मिल जनता  लूट गए 

लूट गए को जनता को खेल अजब शब्दों का खेल

सच्ची ख़बरें देते जो उनको पहुंचाएं जेल 

लल्लो चप्पो  करने वाले  मलाई पेल गए 

पेल गए मलाई जख्मों पर रखी न थोड़ी मलहम 

थोथे  सपन दिखा जनता को लोभी लूट गए 

गए लूट लोभी देखो शब्दों की महिमा न्यारी 

सयाने सयाने बच गए बाकी  सब जल गए 

पुल

तुम्हारी  मेरी सोच नहीं मिलती 

तकरार बढ़ते जाते हैं

जो ना समय से  रोका तो  

मनमुटाव जरूरत से ज्यादा बढ़ जाते है

फासले बढ़ते जाते हैं

मौन को मत गहराने दो

संवाद बने रहने दो

बातों से भी तो मसले हल किये जा सकते है

अहम् की दीवार बीच में ना आने दो

रिश्ते मत तोड़ो

रिश्तों में दरार ना आने दो 

अहम् को इतना भी ना खींचो  कि

पुल बनाने की जगह न बचे 

मिलें तो एक दुसरे को देख मुंह फेर ले 

राष्ट्रकवि दिनकर: 111वाँ जन्मदिवस 

राष्ट्रकवि रामधारी सिंह ‘दिनकर’ जी की स्मृति को उनके 111वें जन्मदिवस पर भावपूर्ण पुष्पांजलि! -https://rkkblog1951.wordpress.com

R K Karnani blog

राष्ट्रकवि रामधारी सिंह ‘दिनकर’ जी की स्मृति को उनके 111वें जन्मदिवस पर भावपूर्ण पुष्पांजलि! 

RKK Collection Dinkar

View original post

सलाह

प्यार है तो जताया भी करो 

दर्द है तो बताया भी करो 

रूठे हुओं को मनाया भी करो 

जज़्बात छिपाये तो 

टीस उठेगी 

छिपाने की जगह दिखाया भी करो 

ज्यादा दिन दूर रहने से 

दूरियां बढ़ जाती हैं 

कभी कभी दोस्तों से मिल आया भी करो 

बिन मांगी सलाह बहुत देते हो मेरी जान
कभी अपनी सलाह पर भी अमल कर आया करो

Somkritya’s artwork

ज़िन्दगी और मौत

Posted on

मौत ने पूछा
ज़िंदगी एक छलावा है
एक झूट है
हर दिन हर पल तुम्हारा साथ छोड़ती जाती है
फिर भी तुम उसे प्यार करते हो
मैं एक सच्चाई हूँ अंत तक तुम्हारा साथ निभाती हूँ
पर फिर भी तुम मुझसे नफरत करते हो
मुझसे डरते हो
मुझसे समझौता कर लो
फिर कोई डर तुम्हें डरा न पायेगा
मैंने कहा
तुम सत्य हो शाश्वत हो
अनिवार्य हो
पर तुमसे कैसे समझौता करलूं
तुम्हारी टाइमिंग बहुत गलत होती है
तुम गलत समय पर गलत लोगों को ले जाती हो
तुम गलत समय पर गलत तरीके से आती हो
पूछो उन बदनसीब अभिवावकों से
जिन्होंने खोए अपने लाल असमय
पूछो उन से ,
जिन्होंने ने गवाए अपने परिजन
आतंकवादियों के हाथों
उम्र  ना थी  की
जान गवाने की

जो मजबूर पीड़ित , बीमार

मरने की प्रार्थना करते हैं
उन्हें तुम तड़पने को छोड़ देती हो
बच्चों ,जवानों को अपना शिकार बनाती हो
कैसे करलूं तुमसे समझौता
तुम कड़वा सच हो, अनिवार्य हो पर
न्यायसंगत नहीं
काम से काम मेरी नज़र में तो नहीं
ज़िन्दगी लाख छलावा सही
मीठा झूठ सही
पर सुन्दर है जीने का,
लड़ने का हौसला देती है

इंदिरा

वादा

बस 

अभी आता हूँ 

तुम रुको 

वादा रहा 

तुमने कहा 

मैं 

तब से इंतज़ार में हूँ 

दिन बीते 

रातें बीतीं 

मौसम बीते 

अब तब करते करते 

न जाने कितनी 

सदियाँ बीतीं  

ना तुम आये 

ना कोई पाती

ये अब कितना लम्बा होता है 

कोई मुझे समझाए  

~Indira

 

भाव

ख़त  जले राख बन कर उड़ गए

भाव तो दिल पर खुदे थे रह गए

कितने ही रंग भरो 

कितने ही रंग भरो 

कुछ बच  ही जाता है 

कितने ही ख्वाब बुनो 

कुछ छूट ही जाता है 

जीवन है एक पहेली 

या फिर  एक भूलभुलैया 

ढूढ़ने की कोशिश में 

कुछ हाथ न आता है 

मत मतलब ढूंढो तुम 

न मक़सद करो तलाश 

जितने भी रंग मिलें 

उनसे ही सजाओ जीवन 

जो इससे  चूकेगा 

पीछे ही रह  जाता है 

 

Maa/ माँ

Posted on

बचपन में कहते

माँ एक कहानी सुना
अब कहते माँ
कोई कहानी मत बना
पहले मेरे  आंसुओं पर
तुम्हारे आंसूं पड़ते  निकल
अब मां  के आंसूं
लगते  इमोशनल  ब्लैकमेल
कहाँ कोई गलती हो जाती है
या शिक्षा में कुछ  कमी रह जाती है
समझने समझाने में
एक उम्र निकल जाती है
खुशनसीब मिलता है वो
जिन्हे मिलता प्यार उम्र भर
वर्ना कई दाने दाने को तरसते हैं
भटकते हैं दर बदर
~Indira
Marla's World

Sporadic randomness from a disheveled mind.

Benie Writes

"With words, I give my thoughts life."

Six Crooked Highways

Take My Words For It

THE SCRIBBLING DAD

Writing about my experiences as a Dad of two Daughters and things around me!

ROAD TO NARA

Travels of : ँ : a Yogin

Myrela

Umjetnost, zdravlje, civilizacije, fotografije, priroda, knjige, recepti, itd.

Real&Raw

Meraki

Learning with Life

Poems, quotes, learning, feelings, introspect, experience as well as discovering..

Paul's Poetry Playground

It's Time to Play...

The Atomic Mage

poetry, fiction, art, books, retro

Art, Spirit, Nature

there is a web that connects all things

Sabethville

Savor Kindness because cruelty is always possible later

dVerse

Poets Pub

GirlieOnTheEdge's Blog

Words of a clarklike female

Journeys with Johnbo

Reflections on places traveled and photos taken.

Better Life Info

Fabulous information for a better and blissful life

SacredCircleforWomen

A place for women to be and become