RSS Feed

Tag Archives: जिंदगी

मलाल / Malal

Posted on
बींधा
तीखी बातों से
एक दूजे को
हरदम
अब देखो वो जख्म
भीतर कैसे पलता है
लाख बिसारना चाहो
कांटे सा कसकता है
टीस उठे  हर  वक़्त
मरहम काम  ना करता है
नासूर बन न  जाये कहीं
हरदम  खून सा रिसता  है
वक़्त पर माफ़ी
मांग ली होती,
रहता नहीं मलाल
तुम भी चुप बैठे रहे
जैसे फर्क क्या पड़ता है
अहम् हमारा टकराये
मन कांच दरकता है
मन आहत पर
चेहरा बुजदिल
मुस्कानों को ढोता
हर रिश्ते का
एक मुखौटा
चिपका लेता है
~ इंदिरा

Advertisements

हौसला

कभी कभी हमबिस्तर भी मीलों दूर हो  जाते हैं
कभी हजारों मील दूर भी दिल के पास आजाते हैं
बस! दिलों में प्यार होना चाहिए|
कभी तो  थाली भर भोजन भी तृप्त नहीं कर पाता है
कभी तो सूखी रोटी में  भगवान  नजर आ जाते हैं
बस! भूख होना चाहिए|
कभी हजारों पन्नों में भी  दिल की बात नहीं आती है
कभी कभी तो एक नजर भी  कितना कुछ कह जाती है
बस! व्यक्त करना आना चाहिए |
कभी हवा का झोंका भी धराशायी कर जाता है
कभी हजारों तूफां भी हिला नहीं तुम्हें पाते है
बस! हौसला होना चाहिए|

~Indira

फलसफा

Reflexion

Reflexion

देखिये तो लोग

यहाँ कितने मूढ़ हैं

काटे  उसी डाल  को
जिसपर आरूढ़ हैं
जो भी बोया काटे वही
जो भी दिया पाये वही
जीवन का फलसफा
इतना भी  नहीं गूढ़ हैं
– Indira
Thursday 7W in Hindi 6.8.15

MAN( मन)

 मन
मन एक अबूझ पहेली सा है                                  confused cat
भीड़ में अकेला
और
अकेलेपन में भीड़ से भर जाता है
कभी कभी निन्यानवे के चक्कर में पड़ेगा
कभी बिना कुछ ही खुश हो जाता है

वैसे  बकबक करता रहता है

अनवरत

सोने भी नहीं देता पर कुछ लिखने  कोशिश करो
तो सब बिसरा सा  जाता है
समझ नहीं आता
यह बस मेरा हाल है
या, सभी के साथ ऐसा हो जाता है
कौन इसे समझाए
जितना  कुछ पकड़ पाओ तो सोना है
वरना  सब मिटटी हो जाता है.

अजीब मगर सच्ची

हीरा चढ़ता मत्थे पे, पत्थर ठोकर खाए ,
ईश्वर  मूरत में ढले, पत्थर भी उबरे जाए |
 दिन भर खट  कर  भी कोई, भूखे  पेट सो जाए ,
बिन मेहनत की  पुरोहिती, पेट भरे जस पाए |
औरत मेहनत कर मरे , फिर भी पीटी  जाए,
पैसा शक्ति, लाये तभी , मंदिर में पूजी जाए |
जब तक मतलब साथ थे, पूछ पूछ के अघाये,
पंख ने जिस दिन भरी उड़ान सब को दिया भुलाए |
छाप अंगूठा रोये क्यों,  राजनीति  घुस जाए,
पैसा पॉवर मिले तो, सर्वगुन्न  कहलाये |
सब कुछ पाया प्रेम न पाया, जिया काहे  अकुलाये,
माया, काया  के चक्कर,  जब जीवन दिया गवाए |

MUFT GYAN/ मुफ्त ज्ञान

Posted on

क्या पता बारिश इस बार भी दगा दे , बादल देख कर मटके फोड़ा नहीं करते |

सदियाँ गुज़र जाती हैं रिश्ते बनाने में, एक जरा सी बात पर रिश्ते तोड़ा नहीं करते |

क्या पता कौन कब दगा दे जाए, एक ही मुलाकात में रिश्ते जोड़ा नहीं करते |

खामोखां किसी को कोई मुगालता क्यों हो, उँगलियों से यूँ पल्लू मरोड़ा नहीं करते |

हर कोई आपके हुस्न का दीवाना नहीं है,यूँ ही बेमतलब हिज़ाब ओड़ा नहीं करते |

न जाने कौन अजनबी कब मीत बन जाए, किसी को देख कर यूँ मुंह मोड़ा नहीं करते |

तरक्की पर तो हर किसी का हक़ है, दूसरों की राह का रोड़ा नहीं बनते |

आराम करने के मौके तो मिलेंगे बहुत, यूँ ही बेवक्त खटिया तोड़ा नहीं करते

जाने वाला चल दिया तनहा छोड़ कर, यूँ ही हंस कर गम थोड़ा नहीं करते |

मज़हब तो दिलों को मिलाने को बना है, मज़हब के नाम पर सर तोड़ा नहीं करते |

_ Indira

559052_408896432514300_1971506220_n

SAATH/ साथ

Posted on

साथ

प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।

ना मुझसे करो चाँद तारों की बातें ,ना महलों ना मह्गीं सौगातों की बातें,
साथ कब तक रहेगा इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो
इबादत नहीं चाहिए मुझको तेरी, पलकों पर बिठा कर भी ना तुम मुझको रखना,
साथ कब तक रहेगा बस इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो|
राह दुश्वार हो फेर मुंह तुम ना लोगे ,आंधी तूफां में भी हाथ थामे रहोगे
साथ मुश्किल में दोगे बस इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।
ज़ुल्फ़ ज़र होगी इकदिन तुम्हे तो पता है,जवानी ढलेगी तुम्हे तो पता है,
साथ मरने तक दोगे बस इतना बतादो,

प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।

 

Indira's Blog

ना मुझसे करो चाँद तारों की बातें ,ना महलों ना मह्गीं सौगातों की बातें,
साथ कब तक रहेगा इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो
इबादत नहीं चाहिए मुझको तेरी, पलकों पर बिठा कर भी ना तुम मुझको रखना,
साथ कब तक रहेगा इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो|
राह दुश्वार हो फेर मुंह तुम ना लोगे ,आंधी तूफां में हाथ थामे रहोगे
साथ मुश्किल में दोगे इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।
ज़ुल्फ़ ज़र होगी इकदिन तुम्हे तो पता है,जवानी ढलेगी तुम्हे तो पता है,
साथ मरने तक दोगे इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।

~Indira

View original post

syncwithdeep

My world of nostalgia and happiness

The Secret Letters to Timbo

Things that I want to tell her....

The Writer Next Door|Vashti Q

Vashti Quiroz-Vega, Author, Horror, Fantasy, Sci-fi, Suspense/Thriller Short Stories & Articles

Anything is Possible!

With Hope, Faith, and Perseverance

....Bilocalalia....

Talking about living in two places

LoveFoodStory

Warmth of Love & Magic of Food!

Parul Rao

A sapiens' view of life.

On the Road Cooking

tiny kitchen cooking for truckers rvers tiny homes

Revolutionary Musings

My everyday thoughts as they come to me

SKIN | CARE

SKIN | BEAUTY | DIY

The Journey of My Left Foot (whilst remembering my son)

I have Malignant Melanoma, my son had Testicular Cancer

Janaline's world journey

My Strange, Wonderful Experiences and Adventures as I Travel through the World

theblackwallblog

Let's work together to overcome PTSD, panic, anxiety, depression in ourselves and others.

poet4justicedotwordpressdotcom

The poet can reach where the sun cannot. -HINDU PROVERBThe greatest WordPress.com site in all the land!

Gary Cooper

Blogs for Inspiration

Shop and Fly

Il Blog di Donatella e Michele