आरएसएस फ़ीड

Tag Archives: zindgi

और फिर नारी ने कहा

और फिर नारी ने कहा
हे नर !

मैं तो हमेशा से वहीँ हूँ 

जहाँ मुझे होना था 

न तुम्हारे आगे न पीछे 
न ऊपर न नीचे 
बस बराबरी में
मुझे तो कभी भी महान बनने की चाहत न थी 
तुम ही हमेशा  ऊंचा बनने की होड़ में लगे रहे 
महान बनने के रास्ते तो और भी थे
उन पर चल तुम ईश्वर बन सकते थे 
पर तुमने यह क्या किया ?   
मुझे नीचा  दिखाने की कोशिश में 
खुद से कमजोर जताने  की ख्वाहिश में 
खुद को महान  दिखाने की चाहत में 
मुझ पर बलात्कार और जुर्म कर 
खुद को ही नीचा गिरा कर 
मुझ स्वतः ही  उपर  उठा दिया 
Image2958

Painting by Sharmila Kiri

Zindagi/ ज़िन्दगी क्या है?

ज़िन्दगी क्या है?

समय के पन्नों पर लिखी हुई कहानी।
समय क्या है?
एक एक पल की ख़ुशी, ग़म ,हार, जीत,मिलना, बिछुड़ना ,पाना, खोना, जीने,मरने  का हिसाब।
पल क्या है?
वही जिन्हें  जाग कर जोड़ा  जाए तो ज़िंदगी,
सोकर गँवा दिया जाये  तो एक सपना।
Funny Animals Looking In Mirror_5

 

SAATH/ साथ

Posted on

साथ

प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।

ना मुझसे करो चाँद तारों की बातें ,ना महलों ना मह्गीं सौगातों की बातें,
साथ कब तक रहेगा इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो
इबादत नहीं चाहिए मुझको तेरी, पलकों पर बिठा कर भी ना तुम मुझको रखना,
साथ कब तक रहेगा बस इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो|
राह दुश्वार हो फेर मुंह तुम ना लोगे ,आंधी तूफां में भी हाथ थामे रहोगे
साथ मुश्किल में दोगे बस इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।
ज़ुल्फ़ ज़र होगी इकदिन तुम्हे तो पता है,जवानी ढलेगी तुम्हे तो पता है,
साथ मरने तक दोगे बस इतना बतादो,

प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।

 

Sharing Thoughts

ना मुझसे करो चाँद तारों की बातें ,ना महलों ना मह्गीं सौगातों की बातें,
साथ कब तक रहेगा इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो
इबादत नहीं चाहिए मुझको तेरी, पलकों पर बिठा कर भी ना तुम मुझको रखना,
साथ कब तक रहेगा इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो|
राह दुश्वार हो फेर मुंह तुम ना लोगे ,आंधी तूफां में हाथ थामे रहोगे
साथ मुश्किल में दोगे इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।
ज़ुल्फ़ ज़र होगी इकदिन तुम्हे तो पता है,जवानी ढलेगी तुम्हे तो पता है,
साथ मरने तक दोगे इतना बतादो, प्यार कब तक रहेगा बस इतना बतादो।

~Indira

View original post

Pyar Hai To Zindgi Hai/ जिन्दगी है तो प्यार है

Posted on

जिन्दगी है तो प्यार है

प्यार है तो अपेक्षाएं हैं

अपेक्षाएं हैं तो शिकायतें हैं

शिकायतें हैं तो तकरार है

  तकरार   है तो दूरी है

दूरी है तो यादें है

यादें है तो मायूसी है

मायूसी है तो तड़प है

  तड़प है  तो प्यार है

प्यार है तो जिन्दगी है

जिन्दगी है तो प्यार है …..

Indira

Sharing Thoughts

जिन्दगी है तो प्यार है

प्यार है तो अपेक्षाएं हैं

अपेक्षाएं हैं तो शिकायतें हैं

शिकायतें हैं तो तकरार है

  तकरार   है तो दूरी है

दूरी है तो यादें है

यादें है तो मायूसी है

मायूसी है तो तड़प है

  तड़प है  तो प्यार है

प्यार है तो जिन्दगी है

जिन्दगी है तो प्यार है …..

View original post

BADLAV ( change)/बदलाव

जिंदगी चल रही है बड़ी रुक रुक के
इसमें कोई बहाव होना चाहिए
बचपन और जवानी में खूब भटक लिए
बुढ़ापे में थोडा ठहराव होना चाहिए
जिंदगी कटी यहाँ वहां घूम घूम के
अब तो कोई पड़ाव होना चाहिए
बदला ना कभी खुद को अपनी जिद में जिए
अब तो कोई   बदलाव  होना चाहिए

pencil sketch by Indira

Mihran Kalaydjian's Official Blog

Trust your own instinct. Your mistakes might as well be your own, instead of someone else’s. Billy Wilder

The Yellow Brick Ave

A journey of expression and compassion

kimbladeswriting

poetry and short stories

Pilgrimage Studio

A Journey of Spiritual Significance

As a Girl thinketh....

Love thyself for it's the only cure!

Prerna's blog

Speaking in a hundred silent ways

Picture Perfect Memories for life

Myriad memories frozen in time

A Journey Called Life ...

“Never forget that once upon a time, in an unguarded moment, you recognized yourself as a friend.” - E. Gilbert

Timeless Mind

All about self realisation, paranormal, dream interpretation and more

Life in Copenhagen

Life in Copenhagen, Denmark, after moving during Covid-19.

Agapē Words of Hope Ministry

Words to Encourage, Inspire & Empower

Banter Republic

It's just banter

Glee Sparkle

See Miracles In Life Everyday

satyaanveshan

My Psychological and Spiritual Odyssey!

कही अनकही बातें

जो हमपे गुज़री सो गुज़री मगर शब-ए-हिज्राँ हमारे अश्क तेरी आक़बत सँवार चले

Nit@94

अभिव्यक्ति